सोमवार, 6 सितंबर 2010

कोई तो सामने आये, जिसे मोहब्बत रास आयी हो

चाहा   जिसे भी मैने जितनी शिद्दत से ,
उसने उतनी जोर से मेरा दिल तोडा है,
चेहरे हर बार अलग अलग थे,
पर हर किसी ने मेरी आखों में अश्क, और,
मेरे दिल को   तन्हा और तडपता हुआ छोड़ा है,




खैर , बहुत मुमकिन है के मुझ में ही कमी हो शायद,
पर ऐसा कोई तो सामने आये, जिसे मोहब्बत रास आयी हो !!!


------------
मुझे मोहब्बत पर पूरा यकीन है, but, m not lucky with love :(...

2 टिप्‍पणियां:

  1. सच्चा प्यार एक ही बार होता है... और वो जब होता है तो खयालात भी बदल जाते हैं.. बस सब्र और इन्तेज़ार की ज़रूरत है.. सो आप करते रहिये.. :)

    उत्तर देंहटाएं